राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस कब मनाया जाता हैं : National Technology Day 2022

National Technology Day 2022 : आइए जाने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के महत्व और इतिहास के बारे में 

National Technology Day 2022 : 11 मई का दिन हम सभी भारतवासियों के लिए बहुत ही खास है क्योंकि आज के दिन हम नेशनल टेक्नोलॉजी डे सेलिब्रेट कर रहे हैं । और आज के दिन हम अपने देश भारत के वैज्ञानिकों का सम्मान करते है. क्योकि टेक्नोलॉजी के निर्माण में वैज्ञानिकों का अहम भूमिका होती है .

हमारे देश के वैज्ञानिकों ने अपने मेहनत के दम पर देश को कहां से कहां पहुंचा दिया . 11 मई को हम भारत में टेक्नोलॉजी दिवस मनाया जाता है . क्योकि भारतीय इतिहास में 11 मई का दिन बहुत की खास महत्व रखता है,  क्योकि इसी दिन भारत ने साल 1998 में दूसरी बार पोखरण में परमाणु परीक्षण किया था . इसलिए हम तकनीकी क्रांति को याद करने के लिए और देश के वैज्ञानिकों को सम्मान देने के लिए हर साल भारत में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाते है . 

आधुनिक दौर में हम और हमारा पूरा समाज सभी टेक्नोलॉजी पर पूरी तरह से आत्मा- निर्भर होते जा रहे है .और आज विज्ञानं ने भी इतनी तरक्की कर ली है आज हर कोई टेक्नोलॉजी पर पूरा आत्मा निर्भर हो गया है . हम सुबह से लेकर रात तक टेक्नोलॉजी पर ही निर्भर रहते है .

 

आज हम सुबह से शाम तक इंटरनेट के माध्यम से Facebook , Whatsapp आदि पर अपना समय बिताते है . यह इंटरनेट की कौन से कारण ही संभव हो पाया है . इंटरनेट ने पूरी दुनिया के एक मुट्ठी में बंद कर दिया है . हम पलक झपकते ही कहीं भी चले जाते है . हम सुबह का नास्ता भारत में करते है तो दोपहर का खाना दुबई में खा सकते है और फिर रात का खाना सिंगापुर में खा सकते है . ये सभी technology के कारण से ही संभव हो पाया है . इसने पूरी दुनिया को आसान कर दिया है . हम घर में बेड पर लेटे लेटे अमेरिका में कॉल लगाकर बात भी कर सकते है .

 

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 11 मई को क्यों मनाया जाता है ?

एक महत्व के अनुसार हमारे देश भारत में हर साल 11 मई के दिन National Technology Day मनाया जाता है. क्योंकि इस दिन वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं, इंजीनियरों, शिक्षकों और विज्ञान एंड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में शामिल अन्य सभी बुद्धिजीवियों को सम्मानित किया जाता है.

 

और वजह यह कि11 मई 1999 को पहली बार National Technology Day मनाया गया था. इसकी पीछे मुख्य वजह थी कि 11 मई 1998 को भारत में राजस्थान के पोखरणके परीक्षण श्रंखला में अपना पहला परमाणु परीक्षण सफलतापूर्वक किया. इस वर्षगाठं के तौर पर 1999 में National Technology Day मनाया गया. तभी से हर साल इस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है.

उस समय देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी थे। दो दिन बाद देश में दो और परमाणु हथियारों का परीक्षण हुआ। इस परीक्षण के साथ ही भारत दुनिया के उन छह देशों में शामिल हो गया, जिनके पास परमाणु शक्ति है। बस इसी वजह से 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया जाता है। इसके अलावा कई और अहम तकनीकी क्रांति इसी दिन संभव हुई थी।

National Technology Day 2022 की थीम क्या है ?

 

बोर्ड हर साल अलग-अलग थीम कि घोषणा करता है . National Technology Day की थीम हर साल अलग-अलग होती है. इस साल ‘सस्टेनेबल फ्यूचर के लिए साइंस एंड टेक्नोलॉजी में इंटिग्रेटेड अप्रोच’ की थीम रखी गई है. इसी प्रकार पिछले साल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2021 की थीम “एक सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी” यानी (Science and Technology for a Sustainable Future) रखी गई थी। जबकि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2020 की थीम ‘रीबूटिंग द इकोनॉमी विद साइंस, टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च ट्रांसलेशन’ यानी (Rebooting the Economy through Science, Technology and Research Translations’ titled ‘RESTART’) रखी गई थी।

Spread the love

Leave a Comment

four × 5 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.