Essay on Girl Education in Hindi – लड़कियों की शिक्षा पर हिंदी निबंध

स्त्री /नारी शिक्षा पर निबंध हिंदी- Girl Education Essay in Hindi

शिक्षा जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग माना गया है . शिक्षा ही है जो एक मानव को पशु से अलग करती है . और अगर नारी एवं महिलाओं की बात करें तो यह उनके जीवन की महत्वपूर्ण अंगों में से एक होगी . क्योकि शिक्षित महिलाए सभी तरह के भेद भाव से बची रहती है .

Essay on Girl Education in Hindi – लड़कियों की शिक्षा पर हिंदी निबंध

नारी शिक्षा पर निबंध 300 शब्दों में

पूर्व ज़माने में महिलाओं को परदे के अंदर रखा जाता था उसे बहार निकलने नहीं दिया जाता था . लेकिन अब वो बात नहीं रही . अब बेटियां / महिलाए हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है . इसलिए महिलाओं को शिक्षा के प्रति लगाव बहुत ज्यादा बढ़ गया है . आज शिक्षित महिलाए हर क्षेत्र में मर्दों के साथ कदम से कदम मिलाकर काम कर रही है , चाहे वो कोई भी क्षेत्र क्यों न हो .

पढ़ें- नारी शिक्षा पर हिंदी निबंध

आज महिलाए हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ प्रतिस्पर्धा कर रही है . वे किसी भी युग में पुरुषों से कम नहीं थी और नहीं रहेगी . समाज के कुछ लोग आज भी नारी शिक्षा पर बाधक बन रही है . आज भी उनका मानना है की नारी घर में ही ठीक है और सुरक्षित है .

नारी शिक्षा का महत्त्व- Importance of Girl Education

शिक्षा नारी का अधिकार है , आप उससे वंचित मत करो . अगर लड़की शिक्षित होती है तो उनका रहन सहन और सभी बेहतर होता है . शिक्षित महिलाए बच्चों को अच्छी से देखभाल करती है . शिक्षित महिलाए परिवार के लिए बोझ नहीं होती है . वो अपने चूल्हा चौका का काम निपटाकर ऑफिस वगैरह में अपने लिए काम करती है , जिससे परिवार को और बेहतर से संभल सकती है .

अगर लड़की अच्छी शिक्षा दिया जाय तो आगे चलकर डॉक्टर, वकील तथा आईपीएस अफसर भी बन सकती है . और घर की बहुए शिक्षित होती है तो घर परिवार में हर एक पैसे का हिसाब रखती है और परिवार को बेहतर ढंग से कैसे चलाया जाय उसे अच्छी तरह से पता होता है .

निष्कर्ष – शिक्षित लड़की चाहे तो घर परिवार तथा समाज का काया पलट सकती है . ये उनका अधिकार है , इससे उसे वंचित मत करो .

पढ़ें- हांथी पर एक लघु निबंध

नारी शिक्षा पर निबंध 500 शब्दों में

आज अशिक्षित महिलाए देश की आर्थिक विकास के लिए बाधक है . अगर वह पढ़ी लिखी होती है तो उससे घर-परिवार तथा समाज का ही नहीं देश का भी विकास होता है . पुरुष तथा नारी गाडी के दो पहिए के समान होती है . अगर दोनों पहिआ एक समान होती है तो तभी घर की गाड़ी बराबर से चल सकती है . इसके लिए नारी शिक्षा बहुत आवश्यक है . आज बेहतर अर्थव्यवस्था के लिए नारी शिक्षा ही मुख्य का परिणाम है . आबादी को नियंत्रित करने में नारी का ही मुख्या योगदान है .

नारी शिक्षा से देश को लाभ

देश में नारी शिक्षा से बहुत लाभ होता है . नारी घर के उत्थान में महत्वपूर्ण होता है . अशिक्षित महिलाए घर के उन्नति में बाधक बनती है . लेकिन शिक्षित नारी ऐसा नहीं होता है . आइए जानते है एक शिक्षित नारी क्या क्या कर सकती है –

शिक्षित नारी अपने भविष्य को सवारने में उसका अहम योगदान होता है .

शिक्षित नारी अपने घर को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए हमेशा तत्पर रहती है .

शिक्षित महिलाए को बच्चे का लालन पालन कैसे करना चाहिए उसे पता होता है ., इसलिए वह बच्चे को अच्छे से पालन करती है .और बाल मृत्यु दर कम होती है .

शिक्षित महिलाए साफ़ सुथरी रहती है . इसलिए उसे कभी  एचआईवी / एड्स जैसे बीमारी की सम्भावना कम होती है .

शिक्षित महिलाए कभी जुल्म नहीं शती है वे ऐसी स्थिति में कानून का तुरंत मदद लेती है .

शिक्षित महिलाए सभी का इज्जत करती है . और एक दूसरे के इज्जत के बारे में अच्छे से पता होता है .

शिक्षित महिलाए हमेशा चाहती है की हमारे परिवार का हर एक सदस्य शिक्षित हो तथा उसके लिए उचित वातावरण का निर्माण करती है .

निष्कर्ष – हमारा देश भारत में एक से एक वीरांगनाए महिलाए से भरी है . ये सभी शिक्षित थी तभी वे एक इतिहास लिख डाला . उन लोगों ने समाज और देश पर जब विपत्ति आई तो तलवार उठा लिया .

Spread the love

Leave a Comment

15 − 8 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.