What is Corona virus and its symptoms in Hindi Meaning

What Is Corona Virus And Its Symptoms In Hindi Meaning

What is Corona virus in Hindi -कोरोना वायरस क्या है ?

Corona Virus :- कोरोना एक प्रकार की घातक-महामारी है | और वायरस से फैलता है | कोरोना-वायरस (Corona Virus) एक संक्रमित बीमारी है । जो जानवरों से होकर मनुष्य में फैलता है | Therefore जब हम किसी जानवर का शिकार करते है तभी यह हमारे शरीर के अंदर पहुंच जाता है | यह एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति में तुरन्त फ़ैल रहा है । ये आपके respiratory सिस्टम को प्रभावित करता है |

यह RNA वायरस है जो कोशिकाओं में मिलकर तेजी से फैलता है और इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है. कोरोना आपके सांस नाली को प्रभावित करता है |

इनका नाम कोरोना-वायरस (Corona Virus) कैसे पड़ा ?

लैटिन-भाषा के अनुसार कोरोना का अर्थ होता है क्राउन अर्थात मुकुट | Therefore जब सूक्षमदर्शी से देखा गया तो पाया की इसके कण आपस में इर्द गिर्द बिखरे हुए कांटे की तरह दिख रहे थे .  Therefore इस प्रकार जो आकृति बन रही थी वो एक क्राउन अर्थात मुकुट की तरह ही दिख रहा था  therefore इसका नाम क्राउन अर्थात कोरोना रखा गया और वायरस होने के करना इसका नाम कोरोना-वायरस हुआ |

इस बीमारी की शुरुआत चीन के वुहान से हुई है । लेकिन अब यह घातक जानलेवा बीमारी दुनियां के 170 देशों में बहुत जल्दी से फ़ैल गया है ।

चीन के वुहान में बहुत बडा जीव-जन्तु का बाजार है जहां पर चमगादड, सांप, खरगोश, समुद्री मछली का मीट धड़ल्ले से बिकता है . चीन में इन जानवरों का शिकार धडल्ले से शिकार किया जाता है .

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के एक रिपोर्ट के अनुसार, यह वाइरस सी-फूड से फ़ैलता है . वुहान शहर मे सी-फूड का बहुत बडा बाज़ार है । इनके वायरस ऊंट, बिल्ली और चमगादड़ में भी फ़ैल रहा है । WHO ने इसका नाम COVID-19 रखा . जिसका मतलब होता है कोरोना वायरस जो 2019 में फैला |

कितना घातक है कोरोना वायरस (Corona Virus) के बिषाणु

अगर आंकड़ों के हिसाब से देखा जाय तो यह अन्य वायरस से कम खतरनाक है क्योकि दूसरे वायरस में संक्रमण का समय एक से दो घंटा लेता है लेकिन कोरोना के वायरस 24 घंटे लेता है | और इसमें मौत का आंकड़ा ( death rate) एक से दो प्रतिशत ही है, लेकिन अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है |

कोरोना के वायरस सालों तक inactive पड़ा रहता है लेकिन जब यह किसी के शरीर में प्रवेश करता है तुरंत ही Active हो जाता है | इसके बिषाणु कभी भी मरते नहीं है | Therefore यह सभी बीमारी से बिलकुल अलग है, जैसे:- डेंगू , चिकिनगुन्या में ये घुटने और जोड़ों को प्रभावित करता है | उसी प्रकार कोरोना आपके सांस नाली को प्रभावित करता है | अगर आप वीडियो देखकर सीखना चाहते है तो देखने के लिए यहाँ click करें:-

जानकारों के अनुसार अगर ये वायरस सुखी जमीन पर गिरा तो 8 से 10 घंटे Active रह सकता है | अगर ये वायरस घर दरवाजे या हैंडल जो लोहे या स्टील के बने होते है उस पर गिरा तो यह दो से तीन दिन तक एक्टिव रह सकता है | हवा में इसके वायरस 3 से-4 घंटे तक एक्टिव रह सकता है | अगर किसी धातु हो तो उसके सतह पर ये 48 घंटे जीवित रह सकता है

एक प्रयोग से यह भी पता चला है की यह अनुकूल परिस्थिति में एक हप्ते तक एक्टिव रह सकता है | लेकिन कपडे जैसे नरम-सतह पर कुछ ही घंटे तक Active रहता है | Therefore कभी भी किसी वस्तु को अच्छी तरह से धोकर उपयोग करें |

अन्य सभी वायरस पर तापमान का प्रभाव पड़ता है लेकिन कोरोना पर कोई इफ़ेक्ट नहीं हो रहा है | क्योकि अगर प्रभाव पड़ता तो गर्म देशों में कोरोना तेजी से अपना पैर पसर रहा है | फ़िलहाल वैज्ञानिकों के पास भी इसका कोई जवाब नहीं है |

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Follow us on
  •  
  •  
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

DMCA.com Protection Status