Atal innovation mission – अटल इनोवेशन मिशन-सीरियस प्रोग्राम क्या है?

Loading...

अटल इनोवेशन मिशन [ Atal Innovation Mission]  सीरियस प्रोग्राम क्या है?

Atal Innovation Mission-अटल नवाचार मिशन   और सिरियस ने मिलकर भारत  और रूस के स्कूली बच्चों के लिए एक वैज्ञानिक प्रोग्राम को लांच किया है .

अटल नवाचार मिशन के तहत  भारत और रूस के Sirius [ Scienitific International Research in Unique Terrestrial Station]  ने मिलकर एक प्रोग्राम की शुरुआत की जिसका नाम AIM –Sirius Innovation Programe 3.0  है  .

उद्देश्य

इस प्रोग्राम का उद्देश्य है भारत और रूस दोनों देश मिलकर आपसी सहयोग से तकनिकी समाधाक को विकसित करना . क्योकि क्या होता है हमारे देश में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है लेकिन उचित व्यवस्था के आभाव के कारन वे प्रतिभाए दब कर अपना  दम  तोड़ देती है . लेकिन इस प्रोग्राम के तहत उनके विकसित किया जाएगा .

कार्यक्रम की मुख्य बिंदु

यह  कार्यक्रम 14 दिन तक चलने वाला है  . इस आयोजन  की शुरुआत 7 नवम्बर 2020 से शुरू होकर 21 नवम्बर 2020 तक चलेगा . और इस प्रोग्राम में  48 छात्र और 16 शिक्षक भाग लेंगे . छात्रों द्वारा विकसित नवाचार ब्लॉक चेन, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और मशीन लर्निंग के क्षेत्र से होंगे।

 

Sirius का पूरा रूप – Scienitific International Research in Unique Terrestrial Station है जिनका मुख्य काम है प्रतिभाओं को विकसित करना .

 

अटल इनोवेशन मिशन [ Atal Innovation Mission] के मुख्य बातें 

इस कार्यक्रम की रूप रेखा 2018 में पीएम मोदी जब रूस गए थे तभी इस बिषय पर हस्ताक्षर हुआ था और AIM  और Sirius के बीच  इस प्रोग्राम की नीव राखी गई थी . देश में उधमिता और नवाचार को विकसित करने के लिए अटल नवाचार मिशन की स्थापना रूस की सहयोग से किया गया .
इस कार्यक्रम की बिंदु इस प्रकार है –

  • अटल इनोवेशन मिशन ने हाल ही में नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज (नैस्कॉम) के सहयोग से स्कूलों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉड्यूल शुरू किया.
  • विश्व स्तर के स्टार्टअप का समर्थन करके नवाचार को बढ़ावा देने के लिए वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद एक साथ आए हैं।
  • यह पहली इंडो-रशियन द्विपक्षीय युवा इनोवेशन पहल है, जो दोनों देशों के लिए वेब और मोबाइल आधारित, दोनों तरह के तकनीकी समाधान का विकास करना चाहती है।
  • इस कार्यक्रम के दौरान लगभग 48 छात्र और 16 शिक्षक और संरक्षक कोविड -19 महामारी के मद्देनजर क्षेत्रों की एक विस्तृत श्रृंखला में वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए 8 ऑनलाइन उत्पादों और मोबाइल एप्लीकेशन विकसित करेंगे।
  • इन क्षेत्रों में संस्कृति, दूरस्थ शिक्षा, अनुप्रयुक्त संज्ञानात्मक विज्ञान, स्वास्थ्य और कल्याण, खेल, फिटनेस और खेल प्रशिक्षण, रसायन विज्ञान, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और डिजिटल प्रॉपर्टी शामिल हैं।

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.