Winter Season Essay in Hindi for students and teachers शरद ऋतु पर निबंध

Spread the love

शरद ऋतु पर निबंध- Winter Season Essay

यह बच्चों तथा छात्रों के लिए शरद ऋटु पर अलग-अलग शब्दों में निबंध लिख रहा हुं । जो आपके लिए Suitable है उसे आप पढ सकते है ।

Winter Season Essay in 250 words

शरद ऋतु ग्रीष्म ऋतु के बाद आता है । यह ऋतु ग्रीष्म ऋतु तथा पतझड (वसंत ऋतु) के बाद आता है । इस ऋतु की शुरुआत नवम्बर माह से होती है, यानी नवम्बर से जनवरी माह तक शरद ऋतु होती है । शरद ऋतु को शीत ऋतु भी कह सकते है ।

शरद ऋतु यानी ठंढा यानी इस ऋतु में हमें ठंढ लगती है । इस मौसम के शुरुआत में कम ठंढक लगती है, लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता जाता है शर्दी बढती जाती है । यह मौसम सबसे ठंढा वाला मौसम होता है, लेकिन दिसम्बर से लेकर जनवरी तक बहुत शर्दी रहती है ।

इस मौसम में हमे बहुत ठंढ का ऎहसास होता है । चारो तरह ठंढी-ठंढी हवा बहती है और तापमान बहुत कम हो जाता है । इस मौसम में दिन छोटी तथा रात बडी होती है । अत्यधिक ठंढ होने के कारन घर से निकलना मुश्किल हो जाता है । कभी-कभी घना कोहरा छा जाता है और दिन में साफ़-साफ़ कुछ भी नजर नही आता है ।

शरद ऋतु होने से काम करने की क्षमता में वृध्दि होती है लेकिन ज्यादा ठंढ होने के कारन घर से बाहर निकलने में बहुत कठिनाई होती है । कभी-कभी इस ऋतु में बारिश के साथ ओले भी गिरने लगते है , जिससे मौसम और भी खराप हो जाता है । इस मौसम में फ़ल तथा सब्जियां का स्वाद बदल जाता है वे खाने में बहुत स्वादिष्ट लगते है । बच्चों को स्कुल जाने में बहुत तकलीफ़ होती है ।

लोग ठंढ से बचने के लिए स्वेटर तथा ऊन के बने हुए गर्म कपडे पहनते है । और चादर, रजाई तथा कंबल का उपयोग करते है , ताकि ठंढ से बच सके ।

Read Related posts.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.