Menstrual Hygiene Day 2022-जाने महिला मासिक धर्म स्वच्छता दिवस क्यों और कब मनाया जाता है ?

Menstrual Hygiene Day 2022:-महिलाओं के मासिक धर्म स्वच्छता सम्बंधित बातें

28 मई को हर साल World Menstrual Hygiene Day मनाया जाता है . महिलाओं को मासिक धर्म यानी पीरियड्स के दौरान होने वाले तकलीफ और साफ सफाई के बारे में जागरूक करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है . इस दिवस को मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के नाम से भी जानते है .

यह एक प्राकृतिक क्रिया है . जो कोई भी स्त्री, लड़की या महिला जो 16 बर्ष उम्र पर कर चुकी ही उसे हर महीने के निश्चित तारीख को मासिक धर्म आता है . ये उनका महिला होने का सूचक है की उसमे भी जनन क्षमता प्राप्त है यानि उसमे भी माँ बनने के सभी गुण मौजूद है .

Menstrual Hygiene Day 2022-जाने महिला मासिक धर्म स्वच्छता दिवस क्यों और कब मनाया जाता है ?

किन्तु हमारे समाज में मासिक धर्म को लेकर आज भी मिथ्या का भ्रम फैला हुआ है . लेकिन ये सिर्फ एक भ्रम है .जबकि इसका कोई लॉजिक नहीं है . धरती पर इंसान की उत्पति महिला के द्वारा ही hoti है . और uske अंदर जनन क्षमता नहीं होगी उसे मासिक धर्म नहीं आएगा तो नए manav की उत्पति kaise होगी.

विश्व मासिक धर्म स्वस्च्छता दिवस क्यों मनाया जाता है ?

हर साल मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है, और इस karam से सभी महिलाओं को gujarana padta है kyoki यह एक swabhavik क्रिया है . un khas dinon में साफ सफाई के prti जागरूक hona bahut jaruri है और isi baat को लेकर और jagrukta badhane के लिए यह दिवस manaya जाता है. mahilae इस पर khulkar baat नहीं कर pati है sankoch karati है . मासिक के दौरान safa सफाई नहीं करने पर kya parinaam ho sakte है isi के लिए जागरूक kiya जाता है .

Period के दौरान swachchta क्यों jaruri है

महिलाओं में ये पीरियड्स का cycle karib 4 से 5 din tak chalta है और इस दौरान महिलाओं के sharir में harmon के वजह से कई badlav आते है परिणामस्वरूप उसे पेट दर्द, ulti होना, जोड़ो में दर्द , चक्कर आना तथा सर में दर्द जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है . इस drmyan महिलाओं को apne हाइजीन का खास ध्यान रखना पड़ता है . anytha लापरवाही के कारन कई bimariyon का जन्म हो जाता है . कभी-कभी इन्फेक्शन की वजह से फर्टिलिटी की समस्या भी हो सकती है .

मासिक धर्म स्वच्छता दिवस 2022 का विषय क्या है ?

IS DIN KE MNANE KI शुरुआत साल 2014 SE हुई थी। AUR HAREK SAAL KOI THEME NAYA decide karte है . thik usi prkar saal 2022 के लिए theme है : 2030 तक मासिक धर्म को जीवन का एक सामान्य फैक्ट बनाना’।

Spread the love

Leave a Comment

3 × five =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.