विश्व जल दिवस पर निबंध – Essay on world water day in Hindi

विश्व जल दिवस मनाने का उद्देश्य क्या है- why do we celebrate world water day

जल का हमारे दैनिक जीवन में बहुत योगदान है . और प्राकृतिक भंडार में जल का स्रोत सिमित है . इसलिए हम सभी को मिलकर जल भण्डारण क्षमता को सिमित करना है बचाना है . इसी बात को लेकर मैंने ये पोस्ट लिख रहा हूँ की किस प्रकार से आप जल का सरंक्षण कर सकते है . इस पोस्ट में हम बात करेंगे की विश्व जल दिवस ( Wold water day) क्या है और और विश्व समुदाय में इसका क्या महत्व है .

विश्व जल दिवस पर निबंध – Essay on world water day in Hindi

विश्व जल दिवस एक अंतराष्ट्रीय त्यौहार है . और इस दिवस को हरेक बर्ष 22 मार्च को मनाया जाता है . इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य यह है की विश्व के प्रत्येक देशों में साफ और स्वच्छ जल की उपलब्धता सुनिश्चित करना है . और आम जनता को जल के महत्व से जागरूक भी करवाना है . और सभी लोगों को इस महत्व पर ध्यान को केंद्रित करना है .

पढ़ें => राष्ट्रीय गणित दिवस पर निबंध

22 मार्च को कौन सा डे मनाया जाता है?

हमारे देश भारत में सभी स्कुल-कालेजों में विश्व जल दिवस पर निबंध तथा वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है . पानी की आवश्यकता हमें हर घंटे पड़ती है चाहे खाना पकाना हो या फसल को सींचना तथा पक्षियों को पिलाना  .  प्राकृतिक को जीवित रखने के लिए पानी या जल की बहुत आवश्यकता होती है .

 

इसी बात को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने बर्ष 1939 में एक सामान्य सभा का आयोजन करके इस दिन को एक बार्षिक आयोजन के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया . इस अभियान में जल के महत्व को समझाया गया और ये निर्णय लिया गया की हर साल २२ मार्च को इसे एक जागरूक दिवस के रूप में हम मनाएंगे .

 

विश्व जल दिवस कैसे मनाया जाता है.

 

अभी तक आपने जल के महत्व को अच्छी तरह से समझ ही चुके होंगे . ये हमारे जीवन की जरुरत है . इसे सर्वप्रथम ब्राजील के रियो डी जेनेरियो में साल १९९२ में पर्यावरण और विकास के लिए  संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के कार्यक्रम में विश्व जल दिवस मनाने की निर्णय ली गई। और साल 1993 में संयुक्त राष्ट्र ने अपने सामान्य सभा के द्वारा निर्णय लेकर इस दिन को वार्षिक कार्यक्रम के रूप में मनाने का अंतिम रूप दे दिया .

 

लोगों के बीच जल का महत्व, आवश्यकता और संरक्षण के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिये हर वर्ष 22 मार्च को विश्व जल दिवस के रुप में मनाने के लिये यह घोषणा की गयी .  “पर्यावरण और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन” की अनुसूची 21 में आधिकारिक रुप से जोड़ा गया था और पूरे दिन के लिये अपने नल के गलत उपयोग को रोकने के द्वारा जल संरक्षण में उनकी सहायता प्राप्त करने के साथ ही प्रोत्साहित करने के लिये वर्ष 1993 से इस उत्सव को मनाना शुरु किया। पूरा विश्व-समुदाय  जल संरक्षण के मुद्दे पर एकजुट है, क्योंकि जल ही जीवन है और यह जीवन जीने के लिए बुनियादी आवश्यकता है।

विश्व जल दिवस 2021 की थीम

 

प्रत्येक साल संयुक्त राष्ट्र एक थीम का चयन करता है यह उस साल के पर्यावरण और स्थिति पर निर्भर करता है . जिसे उस बर्ष का थीम कहा जाता है . थीम पर ही उस बर्ष का पूरा फोकस होता है . तो आइए जानते है किस बर्ष क्या थीम राखी गई थी .

  • 1993 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम थी “शहर के लिये जल”।

  • 1993 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम थी “शहर के लिये जल”।

  • वर्ष 1995 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम था “महिला और जल”।

  • वर्ष 1996 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम था “प्यासे शहर के लिये पानी”।

  • वर्ष 1997 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम था “विश्व का जल: क्या पर्याप्त है”।

  • वर्ष 1998 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम था “भूमी जल- अदृश्य संसाधन”।

  • वर्ष 1999 के विश्व जल दिवस उत्सव का थीम था “हर कोई प्रवाह की ओर जी रहा है”।

  • 2000 में विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “21वीं सदी के लिये पानी की आवश्यकता”।

  • 2001 में विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल, स्वास्थ के लिये”।

  • 2002 में विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल, विकास के लिये”।

  • 2003 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल, भविष्य के लिये”।

  • 2004 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “आपदा और जल”।

  • 2005 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “2005 से 2015 जीवन के लिये पानी”।

  • 2006 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल और संस्कृति”।

  • 2007 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल दुर्लभता के साथ मुंडेर”

  • 2008 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “स्वच्छता और सफाई”।

  • 2009 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल के पार”।

  • 2010 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “स्वस्थ विश्व के लिये स्वच्छ जल”।

  • 2011 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “शहर के लिये जल”।

  • 2012 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल और खाद्य सुरक्षा”।

  • 2013 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल सहयोग”।

  • 2014 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल और ऊर्जा”।

  • 2015 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल और दीर्घकालिक विकास”।

  • 2016 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल और नौकरियाँ”

  • 2017 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “अपशिष्ट जल” होगा।

  • 2018 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “जल के लिए प्रकृति के आधार पर समाधान”

  • 2019 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी “कोई भी पीछे छोड़”

  •  2020  के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम थी  “जल और जलवायु परिवर्तन”.

  • 2021 के विश्व जल दिवस उत्सव की थीम है  “पानी को महत्व देना (Valuing Water)” है।

 

 

Spread the love

Leave a Comment

10 − ten =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.