Current Affairs Daily 26 august 2020 Hindi-करंट अफेयर्स

Loading...

Current Affairs Daily 26 august 2020 in Hindi 2020

Current Affairs Daily 26 august 2020 – देश और विदेश से सम्बंधित सभी प्रकार के महत्वपूर्ण जानकारियां को आपके विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षा के जैसे- SSC,UPSC,IBPS ,Railway, LDC Clerk  तथा बैंकिंग सेक्टर के परीक्षाओं के बहुत उपयोगी है . और इस खंड में हमने आज दिन तक जितने भी महत्वपूर्ण पॉइंट हो सकते थे सभी यहाँ explain किया है .

Current Affairs Daily 26 august 2020 में हमने objective Question और Answer का समावेश है .

MyAbhyas- स्मार्ट लर्निंग का एक नया ज़रिया

  • कोरोना जैसी महामारी के समय में लोग अपने घरों में कैद है , ऐसे समय में बच्चें के शिक्षा के लिए MyAbhyas अच्छा विकल्प है . यह पढ़ने और सीखने के लिए एक अच्छा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है। ये बच्चों के सीखने की प्रक्रिया को सरल और समग्र बनाता है।

  • इसे 2020 में लॉन्च किया गया और इसके माध्यम से क्लास 1 से लेकर 12वीं तक के छात्र-छात्रों के लिए काफी इफेक्टिव लर्निंग प्रोग्राम प्रदान किया जाता है। CBSE तथा KSEEB कोर्स के छात्रों के लिए वन स्टॉप सॉल्यूशन है . MyAbhyas ऑनलाइन ऐप छात्रों के लिए एक वरदान है, क्योकि होमवर्क, डाउट क्लियरिंग, टेक्सबुक सॉल्यूशन, वीडियो लेशन, सैंपल पेपर, मॉक टेस्ट, आसान रिवीजन नोट्स सब में ये मदद मिलती है क्विज, टेस्ट तथा DOUBTS भी क्लियर किया जाता है .यह नई शिक्षा नीति 2020 पर आधारित है .

[Image Source- Google]

मिशन

इस प्लेटफार्म के माध्यम से नई चीजों की खोज, शेयर और प्रभावी टेक्नोलॉजी को लागू करना, पढ़ने के अभ्यास और अथेंटिक लर्निंग को बढ़ावा मिलती है . तथा इसमें पढाई का एक माहौल बनता है . इसमें शिक्षकों को एजुकेशनल टेक्नोलॉजी, प्रोफेशनल डेवलपमेंट और क्लास से जुड़ी कई सुविधाएं प्रदान करता है।

विजन

इसके माध्यम से शिक्षा का प्रचार प्रसार हर गावों में होगा ततः कम खर्चे पर उत्तम शिक्षा उपलब्ध होगा .

संरचित पाठ्यक्रम (Structured Courses)

इसके माध्यम से छात्रों को व्यवहार कुशल तथा बातचीत की तरीका सिखाता है .

लाइव टेस्ट और क्विज

लाइव टेस्ट और क्विज का अच्छा ऑप्शन मिलता है, जो बच्चों को कंपटीशन के लिए आसान रास्ता बनता है।

ग्रुप के साथ नेटवर्क

बच्चों के मन से मातापिता का डर बिना बहुत सारे कुछ सिखने को मिलता है .

रेलवे अपने कर्मचारियों के लिए लेकर आया ‘रेल साइकिल

  • भारतीय रेलवे ने अपने कर्मचारियों के लिए एक नयी तरह की ‘रेल साइकिल’ लेकर आया है जो दैनिक निरीक्षण, निगरानी और पटरी की मरम्मत के कार्य से जुड़े स्टाफ के लिए बहुत मददगार होगी। यह रेल साइकिल रेल पटरियों पर औसतन 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी और इसका वजन मात्र 20 किलो है .  तथा रेल साइकिल पटरियों की देखरेख से जुड़े कर्मियों की पटरियों के निरीक्षण और निगरानी में मदद करेंगी, खासकर मानसून के दौरान। इसमें कहा गया कि ये साइकिल गर्मी के मौसम में भी गश्त के दौरान काफी मददगार होंगी।

    [Image Source- Google]

    साइकिल को बनाने में रेल कार्ट के दो पुराने पहिये और लोहे के दो पाइपों का उपयोग हुआ है. इससे ट्रैक पर साइकिल का बैलेंस बना रहेगा और पटरी से गिरने का खतरा नहीं होगा। इस पर दो व्यक्ति बैठ सकते हैं और इसकी औसत गति 10 किलोमीटर प्रति घंटा है। हालांकि रेल साइकिल को अधिकतम 15 किलेामीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चलाया जा सकता है।

विदेशी निवेश आकर्षित करने के लिए देश के हर जिले में बनेगा एक्सपोर्ट हब

  • विश्व निर्यात में भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने और निर्यात को अर्थव्यवस्था की रीढ़ बनाने के लिए सरकार हर जिले में एक्सपोर्ट हब बनाएगी और विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कई उपाय अपनाये जायेंगे.
  • हाल में विश्व निर्यात में भारत की हिस्सेदारी सिर्फ 1.7 फीसद है जिसे इस दशक में 5 फीसद तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया है। वित्त वर्ष 2018-19 में भारत का वस्तु निर्यात 330 अरब डॉलर का था।
  • शिपिंग बिल और जीएसटीए फार्मेट में भी बदलाव की तैयारी हो रही है ताकि यह पता चल सके कि किस राज्य और किस जिले से कितना निर्यात किया गया।
भारत के युवा कलाकारों के साथ मिलकर ITC Vivel लैंगिक समानता दिवस पर ‘वॉयस ऑफ आर्ट’ को पेश किया
[Image Source- Google]

दुनियाभर में महिलाओं को समान सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक, शैक्षिक और रोजगार संबंधी अधिकार दिलाने के लिए 26 अगस्त को विश्व समानता दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य जेंडर के आधार पर सभी तरह की असमानताएं खत्म करने के साथ ही रिश्तों से लेकर घरेलू और नेतृत्व संबंधी सभी भूमिकाओं में महिलाओं को अवसरों की समानता उपलब्ध कराना है। इससे महिलाएं न सिर्फ अधिक रचनात्मक और मजबूत बनेंगी, बल्कि दुनिया के लिए भी तरक्की की नई राहें निकलेंगी। इसके माध्यम से अपने बात को समाज के सामने वे आसानी से रख सकती है .
कला देश, समाज और परिवार के निर्माण में महिलाओं के बेहद अहम योगदानों को देखते हुए ITC Vivel ने भी एक शानदार पहल की है। उसने लैंगिक समानता दिवस के इस अवसर पर ‘Voice of Art’ पेश किया है। इसके तहत कला के जरिए समानता का संदेश देने की नायाब कोशिश की गई है। बड़ी संख्या में देशभर के युवा कलाकारों ने कला के जरिए समानता का संदेश देते हुए नए जमाने के मुताबिक इसकी नई व्याख्या सामने रखी है।

वॉयस ऑफ द Vivel वुमेन

Vivel ‘V’ का अर्थ है वॉयस ऑफ द Vivel वुमेन, जो लिंग-आधारित रूढ़ियों को खत्म करने और महिलाओं के साथ समान व्यवहार के लिए प्रोत्साहित करती है। Vivel का दृढ़ विश्वास है कि किसी को भी अपनी गरिमा से समझौता नहीं करना चाहिए या उसके साथ भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए।

 

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.