We are social

कम्प्यूटर क्या हैकम्प्यूटर नाम आते ही हमारे मन मसतिष्क पटल में प्रशन आता है-कम्प्यूटर क्या है, कम्प्यूटर किसे कहते है, और इनके प्रकार है और ये कैसे काम करता है आदि आदि।



लेकिन हम सभी जानना चाहते है कि कम्प्यूटर क्या है, और ये कैसे काम करता है ।

आज के जमाने में कम्प्यूटर का प्रयोग हर जगह होने लगा है, चाहे वो निजी क्षेत्र हो, या कोई सरकारी ओफ़िस।

तो आइए जानते है कि कम्प्यूटर क्या है? ईस पोस्ट में कम्प्यूटर क्या है के बारे में बिस्तार से वर्णन करुंगा।

 

Computer Kya Hai

 

परिचय

Contents

कप्यूटर का शाब्दिक अर्थ होता है-गणना करना, गणना करना या जिसे संगणक कह सकते है। जिनका कार्य है Calculation या गणना करना जैसे Calculator .

Full form of computer:-

Computer

Co: – Common

M: – Multi

P: – Purpose

U: – Unit

Ter: – Terminal

कम्प्यूटर एक एसा उप्करण है जिसकी फ़िक्स कोई परिभाषा नही है, इसे लोग अलग-अलग तरीके से परिभाषित करते है ।

Computer एक Electronic उपकरण (device) है, जो बहुत तीव्रगती से कार्य करता है, और Raw data को process करके generate require results.

(Compute is a electronic device which works a tremendous speed and process raw data and generate require results)

Means हमें जिस प्रकार का परिणाम चाहिये ये हमे देता है । ये प्रकिया तीन चरणो में समपन्न होती है:-

इन्पुट (data Input) à  प्रोसेसिंग (Processing) à आउटपुट (Output)

1.माउस, कीबोर्ड, स्केच पेन, पेनड्राइव, स्कैनर ये सारे उपकरण इनपुट device के उदाहरण है,  कम्प्यूटर इन्ही से डाटा को इनपुट लेते है। उसके बाद कम्प्युटर को साफ़्टवेयर के माध्यम से कमांड (निर्देश) दिए जाते है । जिसे आप डाटा एंटर करना कहते है ।

  1. इसका दुसरा चरण है data process करना- तो जो आप सॉफ़्टवेयर की मदद से कमांड देते है उसके अनुसार कम्प्यूटर process करता है- इसमे arithmetic या logical कई operation होते है ।
  1. इस चरण के अन्तिम और तीसरा चरण है output-कम्प्यूटर द्वारा process किए हुवे result मुझे output यानी कम्प्यूटर के screen पर display हो जाता है । इसके बाद आप इसे save करके रख सकते है या फ़िर print भी ले सकते है ।

 

कम्प्यूटर यह कार्य केवल सॉफ़्टवेयर और हार्डवेयर दोनो के ही मदद से ही कर पाता है जैसे सॉफ़्टवेयर कम्प्यूटर को कमांड देता है, कम्प्यूटर हार्डवेयर को कमांड देता है, अब हार्डवेयर को कैसे कार्य करना है, यह पहले सेही इसकी जानकारी सॉफ़्टवेयर के अन्दर पहले सेही डाली होती है, फ़िर कम्प्यूटर का मसतिष्क जिसे CPU कहते है, ये कम्प्यूटर के अन्य सभी हार्डवेयर से जुडे होते है, उससे तलमेल करके operation करते है । और इसे ही हम operating System है ।

अब आपने अच्छी से समझ गए होगें ,कि कम्प्यूटर क्या है और ये कैसे काम करता है । अब आगे हम जानेगें कि कम्प्यूटर के पार्टस के बारे में ।



Computer के parts

कम्प्युटर के Input और Output device के अनुसार निम्न parts होते है:-

Input Devices

  • Keyboard
  • Mouse
  • Scanners Machine
  • Digital Camera
  • Microphone
  • Touch Screen etc.

 

Output Devices

 

  • Monitor Screen
  • Printer
  • Speaker
  • Sound Card
  • Video Card etc.

आप सबने देखा होगा, कम्प्यूटर एक बन्द बक्से की तरह दिखता है, अगर आप इसे खोलेगें तो देखेगें, कि इसमे बहुत सी तारें एवं मशीनें एक दुसरे के साथ उलझे हुए होते है , तो आइए जानते है इन्ही Components के बारे में

 

CPU: – Central Processing Unit.

CPU-को मुख्य Processor कहा जाता है| इसे कम्प्यूटर का मस्तिष्क (दिमाग) कहा जाता है, इसके बिना आपके कम्प्यूटर बेकार है । ये आपके data को process करता है, Processor जितनी अच्छी होगी उतनी जल्दी आपके data को process करेगा ।

Motherboard

ये एक पतली प्लेट की तरह होती है, और ये कम्प्यूटर के CPU के बीचोबीच लगा होता है-और इसके साथ बहुत सारे छोटे-छोटे हार्डवेयर जुडे रहते है जैसे- CPU, Memory card, Hard disk, disk drive, audio-video card, optical drive और कई सारे Motherboard के साथ जुडे रहते है ।

RAM

RAM-Random Access Memory. RAM में हम data को save करके रख सकते है । जब आप कोई कम्प्यूटर पर काम करते है तो और अचानक कम्प्यूटर बन्द हो जाय तो data loss हो सकता है, लेकिन अगर आपने save किया हो तो आप data को दुबारा पा सकते है । RAM आपके data को hard disk में सुरक्षित रखता है।

ये Megabyte (MB) या Gigabyte (GB) में प्रद्र्शित करते है, RAM कि GB जितनी ज्यादा होगी आपकी कम्प्यूटर की speed उतनी अच्छी होगी ।

Hard Disk or Drive

Hard disk एक storage media है , इसमे आप data को save करके long time तक रख सकते है । आजकल मार्केट में External Storage के रुप में कई device उपलब्ध है जैसे- pen drive, Floppy drive, zip drive, CD drive, DVD drive etc.

SMPS

SMPS को transformer जैसा होता है, इसका मुख्य काम है Power supply करना । ये कम्प्यूटर के सारे Components को जरुरत के अनुसार Power supply करते है ।

Monitor

इसे Visual Display Unit भी कहते है । ये Output media है, जिसे आप screen या Monitor कहते है, फ़िल्हाल मार्केट में कई साईजों में उपलब्ध है जैसे- 14″, 21″ and much more….| Monitor दिखने में टीवी जैसा होता है, लेकिन अब मार्केट में LCD एवं LED उपलब्ध है।

Keyboard

यह एक input device है, जिससे आप कम्प्यूटर में Data Enter करते है , जिसमे बहुत प्र्कार के Keys होते है Typewriter की तरह | जैसे-Alphabatical,NUmerical, ALt key, Cltr Key, backspace, Forward Slash, Page up and page dn, ESc keys etc.

Mouse

Mouse input device है, यअह दिखने में चुहा की तरह है,इसकी मदद से आप अपने कार्य को जल्दी कर सकते है । इससे हम program को Click करके select करके निर्देश देते है ।

Speakers

Speakers output device के अन्दर आता है, जिससे आप कम्प्यूटर के आवाज को आसनी से सुन सकते है, इसके अलावा इससे आप म्युजिक, गाना इत्यादि सुन सकते है, जब आप कम्प्यूटर में वीडियो या कोई खेल को देखेगें तो speakers की मदद से ध्वनि को सुन सकते है ।

Printer

Printer भी output device है , इसकी मदद से आप अपने परिणम को मुद्रित (Print out) करके Hardcopy को बाहर निकाल सकते है। ये dot matrix तथा Laser Printer भी हो सकते है ।

कम्प्यूटर का जनक

कम्प्यूटर का इतिहास 300 साल पुराना है, लेकिन फ़िर भी Father of The Compute का खिताब Charles Babage को जाता है, ये एक अंग्रेज गणितज्ञ थे, गणित में data solution के लिए इसने सन 1837 में आविष्कार किया ।और इसके सिध्दान्त पर ही Personal Computer ko develope किया गया ।

 

कम्प्यूटर के प्रकार (Types of Computer)

 

कम्प्यूटर सिस्टम को हम दो भागो में वाट सकते है:-

  1. उसके उपयोग के आधार पर,
  2. उसके साईज के आधार पर

कम्प्यूटर के मुख्य निम्न प्रकार है:-

  • Super Computer
  • Mainframe Computer.
  • Mini Computer
  • Micro Computer

ईसके उपयोगिता के आधार पर कम्प्यूटर को तीन भागो में बांटा गया है:-

  • Analog computer
  • Digital computer
  • Hybrid computer

कम्प्यूटर के सबसे ज्यादा उपयोग के आधार पर हम निम्न तरह से बांट सकते है:

    • Smartphone
    • Microcomputer
    • Workstation
    • Personal computer
    • Laptop
    • Minicomputer
    • Mainframe computer
    • Supercomputer




आजकल हम सभी personal Computer या Desktop Computer का उपयोग करते है ।

कम्प्यूटर कि विशेषताएँ (Characteristics of Computer)

Computer उनके data के आधार पर निम्न बिशेशताएँ है:-

  1. Automatic (स्वचालित) :- Personal Computer में जब आप data input करते है ये Automatic Work करके आपको Result देता है ।

 

  1. Tremendous Speed ( तीव्र गति) :- कम्प्यूटर बहुत तीव्र गति से कार्य करता है, जब आप कोई data input करते है तो ये करोडों सेकंड के अन्दर आपको Result दे देता है ।

 

  1. Acuuracy ( सुध्दता ) : कम्प्यूटर accuracy में हमेशा आगे है, जब आप कोई wrong Spelling data input कर देते है तो Computer आपको Correct spelling तुरन्त बताता है ।
  2. Security (सुरक्षा) :- Computer में आप अपने data को safe & secure रख सकते है, इसके लिये बहुत सारे option available है। जैसे- Password Locking system या फ़िर Finger Verification.

 

  1. Storage Capacity ( बडा संग्र्ह) :- Computer की data storage क्षमता बहुत होती है, फ़िर भी आप अपने जरुरत के हिसाब से बडा कर सकते है ।

Learn Computer Operating System

DOS



कम्प्युटर सम्बन्धित परीक्षा उपयोगी महत्वपुर्ण तथ्य (Computer related exam useful material)

कम्प्युटर एक मशीन है                 –      इलेक्ट्रॉनिक

आधुनिक कम्प्युटर के पिता है         –    चार्ल्स बैवेज (गणितज्ञ)

Abacus ( अबेकस) नामक यंत्र का आविष्कार (1946) में किया      –      चीनियों ने

केलकुलेटर का आविष्कार 1642 में पास्कल (फ़्रांसीसी) ने किया
जे.पी.एकर्ट ने प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कम्प्युटर का आविष्कार 1946 में किया ।
ENIAC – प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कम्प्युटर है ।
IBM PC का आविष्कार विलियम सी लायथ ने 1981 में किया ।

एनालिटिकल इंजन ( Analitical Engine) का आविष्कार 1833 में हुआ ।
कम्प्युटर अपने परिणाम को भविष्य के लिए सुरक्षित रखता है – मेमोरी में
कम्प्युटर में मेमोरी होती है – CPU में
CPU का पुर्णरुप है – Central Processing Unit
Memory होती है – 2 प्रकार के
Primary Memory होती है – 2 प्रकार के

 

 

 

 

 

वस्तुनिष्ठ प्रश्न और उतर (Objective type Question and Answer)

 

indradev yadavComputerकम्प्यूटर क्या हैकम्प्यूटर क्या है- कम्प्यूटर नाम आते ही हमारे मन मसतिष्क पटल में प्रशन आता है-कम्प्यूटर क्या है, कम्प्यूटर किसे कहते है, और इनके प्रकार है और ये कैसे काम करता है आदि आदि। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || ).push({}); Computer के parts कम्प्युटर के Input और Output device के अनुसार निम्न parts होते...Blogging, WordPress, SEO and Make Money Celebration
Summary
Review Date
Reviewed Item
All in One Schema.org Rich Snippet
Author Rating
41star1star1star1stargray

We are social