दिल्ली के अस्पताल में मलयालम भाषा का उपयोग करने पर रोक

दिल्ली के अस्पताल में मलयालम भाषा का उपयोग करने पर रोक

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में डॉक्टर और नर्स किसी भगवान के रूप से कम नहीं। ये लोग दिन-रात एक कर लोगों की जिंदगियां बचा रहे हैं लेकिन दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल के विवादित सर्कुलर ने नर्सों के काम करने के तौर-तरीके पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया था। इस सर्कुलर के मुताबिक, सभी नर्सों को हिंदी या अंग्रेजी भाषा में ही बात करने को कहा गया था।

सर्कुलर में कहा गया था कि कि इन दोनों भाषाओं के अलावा अगर किसी और भाषा में बात की तो उन पर कार्रवाई की जाएगी। इस सर्कुलर पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि मलयालम भी उतनी ही भारतीय भाषा है, जितनी कोई और भाषा है। भाषाओं के नाम पर भेदभाव बंद किया जाना चाहिए।
और पढ़ें-Amarujala पर

Spread the love

Leave a Comment

two × 1 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.